फिर निगाहों में धूल उड़ती है;
अक्स फिर आइने बदलने लगे!
~ Amjad Islam Amjad
Picture SMS 86987
जो ज़रा किसी ने छेड़ा छलक पड़ेंगे आँसू;
कोई मुझ से यूँ न पूछे तेरा दिल उदास क्यों है!
Picture SMS 86986
हम भी मजबूरियों का उज़्र करें;
फिर कहीं और मुब्तला हो जाएँ!
~ Ahmad Faraz
Picture SMS 86960
खामोश बैठे हैं तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नही;
और ज़रा सा हंस लें तो लोग मुस्कुराने की वजह पूछ लेते है।
Picture SMS 86959
हमारे अहद की तहज़ीब में क़बा ही नहीं;
अगर क़बा हो तो बंद-ए-क़बा की बात करें!

तहज़ीब: सभ्यता
क़बा: गाउन, चोंगा
बंद-ए-क़बा: कपड़े की गाँठ
~ Sahir Ludhianvi
Picture SMS 86935
क्यों मुझसे तुम दूर-दूर सा रहते हो;
अपने हुस्न पर मगरूर सा रहते हो;
प्यार की कसमों के राजदार थे कभी;
अब बेवफा बनकर हुजूर सा रहते हो!
Picture SMS 86934
कर दो तब्दील अदालतों को मय खानों में;
सुना है नशे में कोई झूठ नहीं बोलता!
Picture SMS 86901
रगों में दौड़ते फिरने के हम नहीं क़ाइल;
जब आँख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है!
~ Mirza Ghalib
Picture SMS 86900
दिल टूटने से थोड़ी सी तकलीफ़ तो हुई;
लेकिन तमाम उम्र को आराम हो गया!
Picture SMS 86863
बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने;
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है!
~ Nida Fazli
Picture SMS 86862
To receive Hinglish SantaBanta SMS daily on your Tata Docomo GSM mobile, dial *444*975# from your phone.
Analytics